swami vivekananda suvichar collection

We have best collection of swami Vivekananda quotes with images which are really inspiring and motivational thoughts Swami Vivekananda, a spiritual idol for millions.

 

नरेंद्रनाथ दत्त जिन्हें स्वामी विवेकानंद के नाम से जाना जाता है जन्म 12 जनवरी १८६३ को हुवा ,स्वामी विवेकानंद जी भारत के प्रमुख संतों में से एक है,स्वामी विवेकानंद 19वीं शताब्दी के अंतिम दशक और बीसवीं दशक के पहले दशक के दौरान इनके प्रेरक व्यक्तित्व ने भारत और अमेरिका दोनों जगह अपनी पहचान बनाई, शिकागो में सन 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में स्वामी विवेकानंद ने हिंदू धर्म का प्रतिनिधित्व किया था .

swami vivekananda suvichar,स्वामी विवेकानंद सुविचार in marathi,HIndi and English language ,collection of swami Vivekananda quotes with images

Friends, today we are going to share some thoughts(collection of thoughts) of Swami Vivekananda with you in Hindi Marathi and English language .Hope this will prove to be beneficial for you.

 

Best Swami Vivekananda thoughts aur Suvichar

 

अपने जीवन में जोखिम ले. यदि आप जीतते हैं, तो नेतृत्व करते है! यदि आप हारते है , तो आप दुसरो का मार्दर्शन कर सकते हैं

 


एक विचार ले. उस एक विचार को अपना जीवन बनाएं- इसे सोचो, उसका सपना देखें , उस विचार पर जीएं। मस्तिष्क, मांसपेशियों, तंत्रिकाओं, अपने शरीर के हर हिस्से को इस विचार से परिपूर्ण रखें, और हर दूसरे विचार को छोड़ दें। यह सफलता का मार्ग है

 


 


“You have to grow from the inside out. None can teach you, none can make you spiritual.
There is no other teacher but your own soul.”
― Swami Vivekananda

 


“The great secret of true success, of true happiness, is this: the man or woman who asks for no return, the perfectly unselfish person, is the most successful.”
― Swami Vivekananda

 


विष काय आहे ……………जीवनात कोणतीही गोष्ट गरजेपेक्षा जस्ट मिळाली की ती विष बनते  मग ती ताकत असो , गर्व असो ,पैसा असो की भूक असो. –स्वामी विवेकानंद

 


Neither seek not avoid,  take what comes. -Swami Vivekananda

 


“Strength is the sign of vigor, the sign of life, the sign of hope, the sign of health, and the sign of everything that is good. As long as the body lives, there must be strength in the body, strength in the mind, strength in the hand.”

Swami Vivekananda

 


तुम्हे अंदर से सीखना हैं सबकुछ..। तुम्हे कोई नहीं पढ़ा सकता.., कोई आध्यात्मिक नहीं बना सकता। अगर यह सब कोई सिखा सकता हैं तो यह केवल आपकी आत्मा हैं…..स्वामी विवेकानंद

 


अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है, जब तक जीना, तब तक सीखना यही हमारा लक्ष्य होना चाहिए। …स्वामी विवेकानंद

 


आपल्या ध्येयाविषयी तुमच्या हृदयात उत्कट निष्ठा असली पाहिजे ,हि निष्ठा मेघातून पाडलेल्या पाण्यावाचून दुसरे कोणते हि पाणी न पिणाऱ्या चातकाप्रमाणे असली पाहिजे

 


उठो मेरे शेरो, इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो, तुम एक अमर आत्मा हो, स्वच्छंद जीव हो, धन्य हो, सनातन हो, तुम तत्व नहीं हो, ना ही शरीर हो, तत्व तुम्हारा सेवक है तुम तत्व के सेवक नहीं हो.

 


हम जितना अधिक संघर्ष कर सकते है जीत हमारी उतनी ही शानदार होगी

 


“Strength is Life, Weakness is Death. Expansion is Life, Contraction is Death.Love is Life, Hatred is Death.”
― Swami Vivekananda

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami