सही समय पर सही निर्णय लेना – Inspiration Stories

Making the right decision at the right time is an art of living good life.

 

एक कॉलेज मैं प्रोफेसर फिलॉसफी पढ़ाते थे , वे तरह – तरह के प्रयोग  से  अपने छात्रों को जीवन की छोटी – बड़ी ,

चीजों को समझाने की कोशिश करना उनका पेशा था । एक दिन उन्होंने सब छात्रोंको बुलाया।

प्रोफेसर ने  बताया ,” मैं आपको आज जीवन का एक बहुत महत्वपूर्ण तथ्य समझाने जा रहा हूँ।”

सब छात्र ध्यान से सुन रहे थे । प्रोफेसर  ने पानी से भरा आधा बर्तन (पतेला )लिया उसमे , मेंढक डाला.

पानी मैं जाते ही मेंढक आराम से तैरने लगा । तभी  प्रोफेसर ने बर्तन आग  पे गरम करने रख दिया

Topic सही समय पर सही निर्णय लेना यही अछे जीवन जीने की एक कला है।

 

धीरे धीरे बर्तन का पानी गरम होने लगा । पानी के बढ़ते तापमान अनुसार मेंढक खुद को अडजस्ट करता  था ।पानी का अब तापमान ज्यादा होने के बावजूद मेंढक को कोई फरक नहीं पड़ता था  क्योकि वह पानी के तापमान के  अनुसार खुद को तैयार कर रहा था ।

कुछ देर बाद पानी उबलने लगता है । इस stage पे मेंढक का धीरज खत्म होने लगता है।

अब बर्तन मैं रुकना उसे मुश्किल होने लग।तब मेंढक बर्तन से कूद कर बाहर आने की कोशिश करने लगा।

प्रोफेसर ने बर्तन में पानी डाला और मेंढक को डाल दिया, जिसके बाद उसने बर्तन को आग पर रखा, पानी गर्म होने के बाद मेंढक को क्या हुआ, प्रोफेसर ने ऐसा क्यों किया ?

पूरी ताकद लगाने के बावजूद मेंढक बर्तन से बाहर नहीं आया।  उसी आपात स्थिती मैं प्रोफेसर ने उसे बाहर निकला.

और  छात्रों से सवाल किया.

प्रोफेसर ने पूछा ,“क्यों मेंढक बर्तन से कूद नहीं पाया ?”

सभी ने अलग-अलग जवाब दिए।

 

जब उसने सोचा कि अपने जीवन को बचाने के लिए, बाहर कूदना होगा लेकिन  वह कूद नहीं सका , क्योंकि इसका कारण उसे अड़जेस्ट  करने की कोशिश  , जिससे उसकी सारी ऊर्जा चली गई। अगर मैं इससे बाहर नहीं निकलता, तो मेंढक मर जाता।

Also Read:- Implementation के बिना ज्ञान कचरा है-motivational story

लाइफ मॅनेजमेंट Life management

प्रोफेसर ने अपने छात्रों से कहा कि सभी लोगों के साथ ऐसा ही होता है । हम हमेशा अपनी  स्थिती के साथ ऍडजेस्टमेंट करते है । लेकिन इससे बाहर निकलने की कोशिश नहीं करते। लेकिन जब आप पूरी तरह से स्थिति में फस जाते हैं, तो आप सोचते हैं, मुझे सही समय पर बाहर  निकलना था। लेकिन तब तक समय  जा चुका होता है ।

 Moral of the story

Making the right decision at the right time is an art of living good life.(सही समय पर सही निर्णय लेना यही अछे जीवन जीने की एक कला है)

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami