हर सफल व्यक्ति के पीछे होती है ये चीजे.

हर सफल व्यक्ति के पीछे होती है …

हर सफल व्यक्ति के पीछे होती है , माचिस की तीली

 

कैसे तो निचे जो कहानी पूरी पढ़िए …..

हमने एक बार एक व्यक्ति से पूछा ,” क्या कागज़ मैं आग है !”

उन्होंने तुरन्त जवाब दिया ,”ये भी कोई सवाल है जनाब, कागज मैं आग ,बिल्कुल भी नहीं !”

तो हमने कहा, ” अगर कागज मैं आग नहीं होती तो, माचिस की तीली से दी हुई छोटी सी आग से कागज़ के भीतर से
इतनी बड़ी आग कसी निकलती.”

हर वस्तु मैं आग छिपी होती है .माचिस की तीली उस छुपी आग को बेह्काती है.

 

एक बार एक बच्चा स्कुल से लोटकर आया.और उसने अपने माँ को उसके टीचर ने दी हुयी एक चिठ्ठी दी . जब माँ ने चिठ्ठी पढली
तो बच्चे ने माँ से पूछा ,की चिठ्ठी मैं क्या लिखा है .

माँ ने बच्चे से कहा ,की बेटा चिठ्ठी मैं लिखा है, ”  मैडम आपका बेटा बहोत बुद्धिमान है.

हमारे पास ऐसा कोई टीचर नहीं. जो ऐसे  प्रतिभावन बच्चे को पढ़ा सके.

बेहतर होगा की इसकी प्रशिक्षण की व्यवस्था कई और करे.

 

बरसो बाद जब माँ का देहांत हो गया .ये बच्चा अब एक मशहूर वैज्ञानिक बन चूका था. माँ के अंतिम संस्कार के लिए आया. सारी विधि पूर्ण होने के पश्यात, वैज्ञनिक महोदय अपने माँ के घर गये. वहा ड्रावर के अन्दर सालो पुराणी वो चिठ्ठी मिली. जैसे वो इस चिठ्ठी को पढ़ रहे थे. उनके आँखों से आंसू बहने लगे.

चिठ्ठी मैं लिखा था,” मैडम आपका बीटा एक नंबर का बुद्धू है. हम इसे सिखाकर तंग आ चुके है.

हम इसे स्कूल से निकाल रहे है. बेहतर है की आप इसे घर पे ही सिखाये.

आँखों से बहते आंसू को पोंछते हुए,वैज्ञानिक महोदय ने चिठ्ठी के निचे लिखा,”जी हाँ थौमस एडिसन एक बुद्धू बच्चा था.जिसे उसके माँ के विश्वास और समर्थन ने इतना बड़ा वैज्ञानिक बनाया.

तो इसी तरह हर व्यक्ति मैं किसी विशेष योग्यता,हुनर की आग छुपी हुयी है.

यदि विश्वास करने वाली कोई व्यक्ति माचिस की वो तीली मिल जाये ना, तो भीतर की आग बाहर निकलती है.और विश्वकल्याण होता है.

तो ढूँढ़िये किसी ऐसे व्यक्ति को जो आप में विश्वास करे. या बनिए,

वो माचिस की तिली,जो किसी के भीतर छिपी आग को दहकाये.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami